राजस्थान के भरतपुर में प्यार की खातिर महिला शिक्षक ने पहले अपना जेंडर चेंज कराया. फिर अपनी ही स्कूल की स्टूडेंट से शादी कर ली है. दोनों खुश हैं और जेंडर बदलने के बाद दोनों की शादी की चर्चा हर जगह हो रही है. दरअसल, डीग की रहने वाली मीरा राजकीय माध्यमिक विद्यालय नगला में फिजिकल टीचर के पद पर तैनात हैं.

गांव की रहने वाली कल्पना भी इस स्कूल में पढ़ती थीं. कल्पना कबड्डी की अच्छी खिलाड़ी हैं. वह तीन बार नेशनल खेल चुकी हैं.स्कूल में मिलने-जुलने के दौरान फिजिकल एजुकेशन की टीचर मीरा और कल्पना के बीच प्यार हो गया.

मीरा और कल्पना के बीच प्यार इतना परवान चढ़ा कि दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया. मगर, दोनों के बीच जेंडर को लेकर अड़चनें आ रही थीं. इसके बाद मीरा ने साल 2019 में जेंडर चेंज कराने का फैसला लिया. कई बार सर्जरी करवाई.

जेंडर चेंज प्रक्रिया पूरी होने के बाद वह मीरा से आरव बन गईं. इसके बाद 4 नवंबर को अपनी स्टूडेंट कल्पना से शादी रचा ली. इस शादी से दोनों के परिवार बेहद खुश हैं. आरव की चार बड़ी बहनें हैं और सभी शादीशुदा हैं.

आरव कुंतल ने बताया, “मैं फीमेल कोटे से सरकारी स्कूल में शिक्षक बना था. स्कूल में पढ़ने वाली लड़की कल्पना अच्छी खिलाड़ी थी. मैंने अपना जेंडर चेंज कराया, तो कल्पना ने मेरा पूरा साथ दिया.

दोनों परिवारों के बीच पहले से ही काफी मेलजोल था और दोनों ही परिवार शादी के लिए सहमत थे. फिलहाल नौकरी के कागजात में नाम परिवर्तन और फीमेल से मेल जेंडर कराने के लिए काफी परेशानी हो रही है.”

परिवार की सहमति से की शादी-वहीं, दुल्हन बनी कल्पना ने बताया, “मुझे फिजिकल टीचर मीरा से प्यार हो गया था. इसके बाद तीन साल में कई सर्जरी कराकर मीरा ने अपना जेंडर चेंज करा लिया. वो लड़की से लड़का बन गईं. मैं अपने गुरु के साथ शादी करके बेहद खुश हूं. दोनों परिवारों की सहमति के बाद ही हमने शादी की है.”

वहीं, जेंडर चेंज कराने वाले आरव के पिता बीरी सिंह ने बताया, “मेरे पांच लड़कियां थी और कोई बेटा नहीं था. सबसे छोटी बेटी मीरा लड़की होकर भी लड़कों के जैसी रहती थी. उसकी सभी हरकतें लड़कों वाली थीं. लड़कों के साथ ही खेलती थी. अब उसने अपना जेंडर चेंज करा लिया है. मुझे बहुत खुशी है कि आरव और कल्पना की शादी हो गई है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *