DM ने ड्राईवर इम्त्याजुद्दीन को रिटायरमेंट पर खुद गाड़ी चलाकर घर तक छोड़ा , बोले – वो मेरे परिवार …

उत्तर प्रदेश के बांदा में कलेक्टर अनुराग पटेल ने ऐसी मिसाल पेश की है. जिसकी हर तरफ तारीफ हो रही है. दरअसल, डीएम अनुराग पटेल ने अपने सरकारी ड्राइवर को रिटायरमेंट पर अनोखे अंदाज में विदाई दी.इम्त्याजुद्दीन खान शनिवार को रिटायर हो गए और डीएम साहब ने अपने ड्राइवर की विदाई को यादगार बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी.

इस मौके पर उन्होंने खुद गाड़ी चलाई और अपनी सीट पर बैठाकर अपने ड्राइवर को घर तक छोड़कर आए.कलेक्टर साहब ने इम्त्याजुद्दीन खान का फूल माला पहनाकर अभिनंदन किया और उन्हें स्मृति चिह्न देकर शुभकामनाएं दी.इसके बाद जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने गाड़ी को फूल माला से सजवाकर ड्राइवर को खुद घर तक छोड़ा.

इस नजारे को जिनसे भी देखा वो हैरान रह गया.इम्तयाजुद्दीन खान उर्फ मुख्तार ने कहा उन्होंने दो 2 दर्जन से ज्यादा कलेक्टर्स की सेवा की है पर ऐसा कलेक्टर पहली बार देखा है, जो अपने कर्मचारियों को इतना सम्मान दे रहे हैं.

‘मेरे लिए यह गर्व की बात है, मैं जब साहब को घर लेकर जाना चाहा तो वो मेरी सीट पर जाकर बैठ गए और खुद गाड़ी चलाकर मुझे घर तक छोड़ने गए. मुझे इतना सम्मान दिया, मैं बहुत खुश हूं’.वहीं डीएम अनुराग पटेल ने बताया कि कलेक्टर को समय से हर जगह पहुंचाते हैं,

पूरे दिन साथ साथ रहते हैं. ‘मैं पूरे स्टाफ को अपना परिवार मानता हूं, उसी क्रम में मेरे ड्राइवर इम्तयाजुद्दीनन रिटायर हुए हैं. मैं उनका स्वागत कर उन्हें खुद गाड़ी ड्राइव कर घर छोड़कर आया हूं.

उनके घर के लोग भी बहुत खुश हुए,मैं उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं,उन्होंने 42 साल तक अपना परिवार,रिश्तदार छोड़ सेवा की है,मेरे साथ पिछले 7 महीने से काम कर रहे थे.

चालक और अधिकारी का संबंध रति और सारथी का होता है. रिटायर के बाद मैं उनसे अपेक्षा करता हूं कि कुछ न कुछ जरूर करते रहे और जीवन को सुखमय बनाए. मैं उनके दीर्घायु की कामना करता हूं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.