जितेन्द्र त्यागी उर्फ़ वसीम रिज़वी का झलका दर्द , कहा – सनातन धर्म अपनाने के बाद भी हिन्दू नही दे रहे है…

मुस्लिम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपनाने वाले वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी इस वक्त डिप्रेशन में हैं। इस बात की जानकारी उन्होंने एक वीडियो शेयर करके दी है। जो वीडियो उन्होंने शेयर किया है, उसमें वह खुदकुशी करने की बात कर रहे हैं। जितेंद्र त्यागी का कहना है कि सनातन धर्म में वापसी पर उन्हें वो प्यार और मोहब्बत नहीं मिली.

जो उनके पुराने रिश्तेदारों को घर वापसी पर मिलती है। हालांकि, वीडियो में सनातन धर्म अपनाने की वह पैरवी भी कर रहे हैं।वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी ने कहा कि बहुत से लोग उन्हें फोन कर रहे हैं और कह रहे हैं कि आपने सनातन धर्म क्यों अपनाया।

आपको सनातन धर्म में जाकर क्या मिला? इसको लेकर रिजवी ने कहा कि जब उन्होंने सनातन धर्म अपनाया था, तब वे बहुत परेशान थे। क्योंकि वे हर वक्त आ/तंकी गतिविधियों और इ/स्लामिक जि-हाद और इस्ला-म में दी जा रही क/ट्टरपंथी शिक्षा व इ/स्लामिक क्रू/रता के बारे में सोचते थे।

वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी ने कहा कि 1400 साल पहले पता नहीं कितनी नस्लों के बाद उनकी घर वापसी हुई है। हम सनातन धर्म से बहुत पहले से प्रभावित थे। महादेव, भगवान कृष्ण और हिंदू संस्कृति उन्हें बहुत पसंद है।

वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी ने कहा कि सनातन धर्म अपनाने पर उन्हें उनके रिश्तेदारों की तरह प्यार नहीं मिल रहा है। इससे वह बहुत डिप्रेशन में हैं। उनकी जिंदगी का कोई ठिकाना नहीं है।

उन्होंने कहा कि दु,श्मनों के हाथों मरने से अच्छा है कि वो खुद ही जीवन सामाप्त कर लें। उन्होंने कहा कि वह मरते दम तक सनातन धर्म को मानते रहेंगे। हालांकि, वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी के दुश्मन कौन हैं, इस बारे में उन्होंने नहीं बताया है। इसके अलावा उन्होंने यह भी नहीं बताया कि वह डिप्रेशन में क्यों हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.