कारीगर ने बनाया सिर्फ 6 गज में मकान ,राजधानी का सबसे छोटा मकान देखने दूर दूर से आते है लोग

दिल्ली के बुराड़ी में एक ऐसा मकान है,जिस को जो भी देखता है तो देखता ही रह जाता है,दरअसल इतने कम ज़मीन पर यह मकान बना है कि देखने में अजूबा लगता है.बुराड़ी मेन रोड से जब संत नगर मेन मार्केट के आखिरी हिस्से में पहंचते हैं तो दाहिने हाथ पर एक छोटी सी चौधरी डेयरी नजर आती है.

आपको वहां से ही स्थानीय लोग 6 गज की जमीन पर बने मकान के बारे में बताने लगेंगे.अच्छा मकान देखकर आप कारीगर की तारीफ न करें ऐसा हो नहीं सकता. यहां आने वाला हर शख्स कारीगर की तारीफ करते नहीं थकता.

इस मकान को बिहार के मुंगेर जिले के अरुण ने बनाया था. यह दो मंजिला इमारत है,ग्राउंड फ्लोर से ही पहली मंजिल पर जाने का रास्ता निकलता है और ग्राउंड फ्लोर पर ही सीढ़ियों से सटा एक बाथरूम भी है.ग्राउंड फ्लोर पर इसके अलावा कुछ नहीं है.

अगर आप पहली मंजिल पर जाएंगे तो एक बेड रूम और उससे सटा एक बाथरूम नजर आएगा.बेडरूम से ही दूसरी मंजिल के लिए एक रास्ता निकाला गया है.पहली मंजिल पर पहुंचते ही एक बेड आपको नजर आएगा.

उस बेड को इस मकान के पहले मालिक ने कमरे के अंदर ही बनवाया था. तब से अब तक बेड उसी जगह पर है जहां वह पहले दिन से लगा था. मकान तिकोने आकार का है. यानी दरवाजे से शुरू होकर अंत तक जाते-जाते दीवारें त्रिभुज की तरह जुड़ जाती हैं.

इस मकान के मालिक इस समय पवन कुमार उर्फ़ सोनू हैं,उन्होंने बताया कि उन्होंने इस माकन को खरीदा था, पवन ने बताया कि अरुण ने इस मकान को खुद अपन लिए बनाया था,लेकिन फिर वह यहाँ से जाने लगे तो इसे बेचना चाहा, ऐसे में मैंने इस मकान को खरीद लिया था.

इस माकन के बारे में लोग बताते हैं कि इस माकन का फोटो लॉकडाउन में वायरल हुआ था, लोग हैरत करते थे कि इतने छोटे मकान में कैसे रहते हैं.उसके बाद मकान का मालिक अरुण जुवा में बहुत सारा पैसा हार गया, और उस ने बहुत लोगों से क़र्ज़ भी ले लिया था, तो उस ने पवन के हाथ से इस मकान को बेच दिया. और अब वह बिहार वापस चला गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.