शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैंन जितेन्द्र त्यागी जोकि मुस्लि’म धर्म छोड़कर चर्चा में आ गये थे लेकिन हाल ही में दिए इंटरव्यू में सना’तन और इस्ला/म धर्म को लेकर उन्होंने कुछ ऐसी टिप्पड़ी की है जिससे ऐसा लग रहा है वो जितेन्द्र त्यागी बनकर उतने खुश नही है जितना उन्होंने दावा किया था.

बल्कि वो इ’स्लाम की तारीफ भी कर रहे है ये इंटरव्यू उन्होंने बीबीसी हिंदी को दिया है.बीबीसी को दिए इंटरव्यू में त्यागी कहते है उनको स’नातन धर्म में आने के बाद हि’न्दू समाज का वो सहयोग नही मिला जिसकी उन्हें आशा थी.

उन्होंने कहाकि कोई बहु , बेटी रिश्तेदारी से नए बने हि’न्दू से दुरी रखते है जबकि अगर कोई मु’स्लमान को हो जाए फिर मुस्लिम समाज उसे हाथो हाथ लेता है. वो कहते है उनकी जिंदगी हिन्दू बन्ने के बाद ज़ह’र पीने जैसी हो गयी.

जितेन्द्र त्यागी इ’स्लाम दुबारा अपनाने पर कहते है कि ये बात सही है उनके परिवार ने हिन्दू ध/र्म नही अपनाया और इस फैसले से मुझे ख़ुशी है क्युकी जो मैं झेल रहा हूँ वो सब नही सहन कर रहे है.

लेकिन जितेन्द्र त्यागी ने कहाकि वो अब अपना ध’र्म दुबारा नही बदलेंगे हलाकि वो जो उनके साथ हुआ उससे निराश है.उन्होंने कहाकि हि’न्दू समा’ज में जाति व्वास्य्था एक सच्चाई है और लोग हि’न्दू बने व्यक्ति को पूरी तरह स्वीकार नही करते है.

जबकि मुस्लि’म समाज में इसका उलट आप को देखने को मिलेगा.आपको बता दे जितेन्द्र त्यागी उर्फ़ वसीम रिज़वी अपने विवादित बयानों के वज़ह से उन पर कई मामले दर्ज है हेट स्पीच के मामले में उनको कई दिन जे’ल में भी रहना पड़ा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *