पाक से आया हिंदू शरणार्थी कर रहा था जासूसी, 3 साल पहले मिली थी नागरिकता ,ऐसे खुला राज़

पाकिस्तान अपनी नापाक साजिशों से बाज नहीं आता है. वो लगातार किसी न किसी रूप में अपनी चालें चलता रहता है.अब उसके एक और मोहरे का पर्दाफाश किया गया है. पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहे एक शख्स को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है.हालांकि, हैरान करने वाली बात ये है कि ये जासूस पाकिस्तान से आकर भारत की नागरिकता ले चुका एक हिंदू शरणार्थी है.इस शरणार्थी को ही पाकिस्तान के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है.

तीन साल पहले मिली थी भारत की नागरिकता
राजस्थान इंटेलिजेंस ने 46 वर्षीय भागचंद को दिल्ली से गिरफ्तार किया है. आरोपी ने तीन साल पहले ही भारत की नागरिकता ली थी और दिल्ली में रहकर टैक्सी चलाता था. इंटेलिजेंस को सूचना मिली थी कि आरोपी पाकिस्तानी हैंडलर के संपर्क में था और दिल्ली से अहम जानकारी पाकिस्तान भेज रहा था.

एडीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि ये पाकिस्तानी हैंडलर के संपर्क में था और दिल्ली के संवेदनशील जगहों की सूचनाएं पाकिस्तान भेज रहा था. 14 अगस्त को जासूसी के आरोप में भीलवाड़ा से नारायण लाल गाडरी नाम के व्यक्ति को गिरफ़्तार किया गया था, जिसके मोबाइल से पता चला कि दिल्ली के संजय कॉलोनी भाटी माइंस निवासी भागचंद भी उसके साथ शामिल था.

1998 में परिवार समेत आया था भारत
उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी हैंडलर इसके भी अकांउट में पैसे डाल रहे थे. यह पिछले तीन साल से पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहा था. ऑटो चलाने के दौरान दिल्ली के अलग-अलग जगहों की तस्वीरें खींचकर पाकिस्तान भेजता रहता था.

पकड़ा गया आरोपी 1998 में परिवार समेत वीज़ा पर भारत आया था और यहां आकर मज़दूरी करने लगा. तीन साल पहले इसे भारत की नागरिकता मिली है. इंटेलिजेंस की ज्वाइंट टीम इससे जयपुर में पूछताछ कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.